चावल के साथ रोजाना जहर खा रहे हैं आप, नहीं संभले तो कैंसर, डायबिटीज जैसे 10 रोगों का खतरा

लगभग सभी लोग चावल खाना पसंद करते हैं। चावल के कई फायदे हैं जैसे इसे बनाना, खाना और पचाना बहुत आसान है। इसके अलावा चावल प्रोटीन, विटामिन, मिनरल्स और कार्बोहाइड्रेट का भी बेहतर स्रोत है। लेकिन चावल के कुछ नुकसान भी हैं जोकि बहुत से लोग नहीं जानते। आज हम आपको बता रहे हैं कि चावल के मामले में किस तरह की लापरवाही आपको गंभीर नुकसान पहुंचा सकती है।

चावल को दोबारा गर्म करके खाना

आमतौर पर देखा जाता है कि खाने की बर्बादी न हो इसलिए लोग खाने की चीजों को दोबारा गर्म करके खाते हैं, चावल भी उनमें से एक हैं। आपको बता दें चावल को दोबारा गर्म करने पर उसमें विषाक्तता आ सकती है। इससे आपको उल्टी, दस्त और पेट में दर्द आदि समस्याएं हो सकती हैं। इसके अलावा आपको ऊर्जा की कमी, भूख में कमी, शरीर का तापमान बढ़ना, ठंड और मांसपेशियों में दर्द होना जैसे लक्षण भी महसूस हो सकते हैं।

कई गंभीर मामलों में लक्षण डिहाइड्रेशन की स्थिति पैदा कर सकते हैं यहां तक की आपकी मौत भी हो सकती है। ऐसा माना जाता है कि चावल के अलावा रेड मीट या चिकन को भी दोबारा गर्म करके नहीं खाना चाहिए। ऐसा करने के बाद इसमें मौजूद प्रोटीन कॉम्पोजिशन बदल जाता है, जिससे पाचन संबंधी समस्याएं हो सकती हैं।

सफेद चावल में जहरीला रसायन

ऐसा माना जाता है कि चावल खाने से आर्सेनिक नामक जहरीला रसायन शरीर में प्रवेश करता है, जिससे कैंसर, हार्ट डिजीज और डायबिटीज जैसी कई गंभीर बीमारियों का खतरा बढ़ सकता है। माना जाता है कि चावल में दूसरी चीजों के मुकाबले 10-20 फीसदी ज्यादा आर्सेनिक रसायन पाया जाता है जो स्वास्थ्य संबंधी कई परेशानियों को जन्म दे सकता है।

अगर आप ब्राउन राइस खाते हैं तो इससे आपकी सेहत पर उतना नकारात्मक असर नहीं पड़ेगा, जितना की सफेद चावल खाने से पड़ सकता है।

पके चावल को देर तक बाहर रखना

ऐसा माना जाता है कि पके हुए चावल को एक घंटे के भीतर फ्रिज में रख देना चाहिए और 24 घंटे से अधिक समय तक फ्रिज में नहीं रखना चाहिए। इतना ही नहीं पके हुए चावल को एक बार से ज्यादा गर्म नहीं करना चाहिए। ऐसा करने से आपको उल्टी, दस्त हार्ट डिजीज सहित कई समस्याएं हो सकती हैं।

कच्चे चावल में बैसिलस सेरस नामक बैक्टीरिया होते हैं और यह पकाने के बाद भी जीवित रह सकते हैं और विषाक्तता पैदा कर सकते हैं। अगर पके हुए चावल को कमरे के तापमान में रख दिया जाए, तो स्पायर बैक्टीरिया कई गुणा बढ़ सकते हैं। पके हुए चावल को एक बार गर्म कर सकते हैं। कई बार गर्म करके खाने से भी आपको नुकसान हो सकता है। इससे आपको उल्टी और दस्त जैसी समस्याएं हो सकती हैं।

इतना ही नहीं लंबे समय तक पके हुए चावल रूम टेम्परेचर में रखने से उसमें बैक्टीरिया बढ़ने के उतने ही चांस होते हैं। यही वजह है कि एक्सपर्ट बने हुए चावल को एक घंटे के भीतर फ्रिज में रखने की सलाह देते हैं। ऐसा माना जाता है कि अनाज को ज्यादा पानी में बनाने से आर्सेनिक को बाहर निकालने में मदद मिलती है जिससे किसी भी संभावित रासायनिक विषाक्तता को रोका जा सकता है।

अगर आप चावल को रातभर भिगोकर रखते हैं तो इससे विषाक्तता के स्तर को धीमा कर दिया जाता है जिससे कैंसर और हार्ट डिजीज का खतरा लगभग 80 फीसदी तक बढ़ सकता है।

Tags

चावल

Related Articles

36999.jpg

More News